खुद को किसी से कम मत समझो रात भर जाकर मेहनत करोगे एक बार इसे पढ़ लो

खुद को किसी से कम मत समझो रात भर जाकर मेहनत करोगे एक बार इसे पढ़ लो

दे दी तुमने अपनी पूरी ताकत जो तुम्हारे अंदर थी यही वह साहस था जो तुम पूरी दुनिया को दिखाना चाहते थे यह बोल बोल कर कि मैं करके दिखाऊंगा बस इतना सा ही था अंदर बस यही दिखाना चाहते थे किस सिर्फ एक बार हारने के बाद गिरकर और वही पड़े हो अब उठने की हिम्मत भी नहीं हो रही है


खुद को किसी से कम मत समझो रात भर जाकर मेहनत करोगे एक बार इसे पढ़ लो

दुनिया को जो जीतने की बात करते थे कहा गया वह जोश कहां गया वह उत्साह कहां गया वह जुनून हो गए तुम्हारी सफल होने की इच्छा पूरी इसलिए तुम्हारे मां बाप कहते थे कि बेटा ज्यादा ऊंची उड़ान मत भरो गिर जाओगे हम तो हम जो कह रहे हैं 

उसी को मान लो उसी में भले दिन है तुम्हारे लेकिन उस टाइम तो बड़ी-बड़ी बातें की थी बड़े-बड़े सपने दिखाए थे बड़ा जोश था बड़ा उत्साह था अब कहां गया वह जोश तुम्हें क्या लगता है

खुद को किसी से कम मत समझो रात भर जाकर मेहनत करोगे एक बार इसे पढ़ लो

कि बस एक बार काम करने से तुम्हें सफलता मिल जाएगी तुम धी

रूभाई अंबानी बन जाओगे बिल गेट्स बन जाओगे सचिन तेंदुलकर बन जाओगे तुम क्या लग रहा था की दो चार मोटिवेशनल किताबें पढ़कर 24 मोटिवेशनल वीडियो देख कर तुम दुनिया के सबसे महान इंसान बन जाओगे

 तो तुम आज फैसला ले लो कि तुम्हारे अंदर ताकत हौसला जुनून सब कुछ मर गया है या फिर मुझे खड़े होकर बताओ अपने लक्ष्य को फिर से पाना चाहते हो खड़े होना चाहते हो लड़ना चाहते हो और फिर से कुछ बन के दिखाना चाहते हो सपने हर इंसान दिखता है बड़े बनने के लेकिन जब मेहनत करने की बारी आती है तो फट के हाथ में आ जाती है

खुद को किसी से कम मत समझो रात भर जाकर मेहनत करोगे एक बार इसे पढ़ लो


उससे पता चलता है असली मेहनत असली ताकत होती क्या है बोलना बड़ा आसान होता है लेकिन जब मेहनत करने की बारी आती है तो फिर शरीर में तकलीफ होने लगती है दुख होता है, दर्द होता है , पीड़ा होती है।

हमसे यह काम बन नहीं रहा है सिर्फ  करके दिखाएंगे करके दिखाएंगे करके दिखाएंगे करके दिखाएंगे बोलने से कुछ नहीं होगा कई सारे लोग को देखा होगा जो बोलते रहते हैं कि कल के दिखाएंगे लेकिन जब करने की बारी आती है तो वह कहीं दिखाई नहीं पड़ते हैं।

अपने आपसे पूछो कि जो बोलने का साहस रखते हो वह करके दिखाने का रखते हो या नहीं इस मैदान में रहना है या नहीं यहां पर दो मैदान है एक बोलने वालों का एक करने वालों का बोलने वाले बाहर रहकर और सिर्फ चिल्लाकर रहते हैं और चीखते रहते हैं।

तुम्हारे अंदर साहस है हिम्मत है तो तुम बोलकर नहीं अपने कर्मों से उनका मुंह बंद करोगे और उन लोगों के सामने कभी मत रोना जिन्होंने तुम्हारा दिल दुखाया था हंसना मुस्कुराना और खुश रहना ताकि उन्हें भी पता चले कि तुम कमजोर नहीं हो।

खुद को किसी से कम मत समझो रात भर जाकर मेहनत करोगे एक बार इसे पढ़ लो

जितना उन्होंने सोचा था तुम्हारे बारे में देखो मंजिल मिलने या ना मिले अपने हौसले को बुलंद रखना यदि हारो भी तो ऐसे हारना कि जीतने वालों से ज्यादा चर्चे आपके हो यदि तुम्हें लगता है कि तुम कमजोर हो यदि तुम्हें लगता है कि तुम्हारे अंदर जोश है या नहीं ताकत है या नहीं तुम्हें लगता है कि तुम बलशाली हो या नहीं।

आपको अपनी परेशानियों को जितना देखोगे यह उतने ही बड़ी होती जाएगी लेकिन जितना तुम इनका सामना करोगे वह उतनी ही हल होते जाएगी यह उतनी ही छोटी होती जाएगी आज के बाद यह तुम्हारे हाथ में है कि तुम्हें रोना है या दूसरों को रुलाना है तो आपको मेहनत करते रहना चाहिए।

 फल की परवाह नहीं करना चाहिए आप मेहनत करोगे तो आपको सफलता जरूर मिलेगी अपनी सास को अपनी पहचान बनाना ऐसे ही कहीं मान लोगों ने कहा है कि तुम्हें कभी भी हार नहीं मानना चाहिए। 

RELATED ARTICLES