पपीता खाने के फायदे और नुकसान जानिए | Know the advantages and disadvantages of eating papaya

पपीता खाने के फायदे और नुकसान जानिए? 

Know-the-advantages-and-disadvantages-of-eating-papaya

भारत में मधुमेह के रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है, एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर में लगभग 52 करोड़ लोग इस खतरनाक बीमारी से पीड़ित हैं।  आपको बता दें कि मधुमेह में व्यक्ति के शरीर में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है।  ब्लड शुगर बढ़ने से कई स्वास्थ्य समस्याएं भी बढ़ जाती हैं।

जब शरीर कम इंसुलिन बनाता है या उसका सही उपयोग नहीं कर पाता है, तो व्यक्ति को मधुमेह की समस्या होती है।  ऐसे में डायबिटीज के मरीजों को इन्सुलिन को लेकर खान-पान को लेकर कई सावधानियां बरतनी पड़ती हैं.  मधुमेह में फलों के सेवन को लेकर कई विशेषज्ञों का कहना है कि मधुमेह के रोगी जिनका शुगर नियंत्रण में रहता है, वे हर तरह के फल खा सकते हैं, लेकिन उन्हें सीमित मात्रा में ही खाना चाहिए।  आइए जानते हैं कैसे है पपीता फायदेमंद।

फल मीठे होते हैं लेकिन उनमें कृत्रिम के बजाय प्राकृतिक चीनी होती है और इसलिए उनमें मौजूद विटामिन, फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद होते हैं।  वहीं पपीते की बात करें तो इसमें पाए जाने वाले विटामिन, मिनरल, एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर की भरपूर मात्रा मधुमेह के रोगी के लिए फायदेमंद होती है।  पपीते में मध्यम ग्लाइसेमिक स्तर होने के कारण यह मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद है। 

पपीता शुगर कम होने के बावजूद बहुत मीठा होता है, लेकिन इसके अलावा पपीते में फ्लेवोनॉयड्स भी मौजूद होता है जो ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मददगार होता है।  पपीते में विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन आदि होता है। यह भरपूर मात्रा में होता है।  ये सभी हृदय स्वास्थ्य के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं, साथ ही पपीते की हाइपोग्लाइसेमिक प्रकृति के कारण, पपीता मधुमेह हृदय रोग को रोक सकता है।

आपको बता दें कि शरीर में इंसुलिन की कमी के कारण डायबिटीज में ब्लड शुगर बढ़ने से हृदय रोग, तनाव, सिरदर्द, धुंधली दृष्टि, मल्टीपल ऑर्गन फेल्योर सहित कई जानलेवा बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। 

पपीता खाने के ये नुकसान आपको हैरान कर देंगे, इन लोगों के लिए है घातक

पपीता स्वास्थ्यप्रद भोजन में से एक माना जाता है। पपीता विटामिन, खनिज, एंजाइम से भरपूर होता है और इसमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। हम सभी ने इसके कई स्वास्थ्य लाभों के बारे में सुना होगा। लेकिन आज हम आपको पपीते के सेवन के कुछ साइड इफेक्ट्स बताने जा रहे हैं, जिनके बारे में जानकर आप जरूर हैरान रह जाएंगे। आइए जानते हैं पपीता खाने के कुछ नुकसान।

इस रसदार पपीते में समृद्ध औषधीय गुण होते हैं और यह जीवाणुरोधी और एंटिफंगल के रूप में कार्य करता है। हालांकि पपीते के पत्ते आमतौर पर डेंगू बुखार के इलाज के लिए उपयोग किए जाते हैं, लेकिन अधिक मात्रा में लेने पर जोखिम हो सकता है

पपीता गुर्दे की पथरी के विकास के जोखिम को बढ़ाता है

पपीता विटामिन सी से भरपूर होता है जो एंटीऑक्सीडेंट प्रदान करता है और त्वचा की कोशिकाओं को समय से पहले बूढ़ा होने से बचाने में मदद करता है। कैंसर के विकास के जोखिम को कम करता है, प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है और बेहतर रक्त परिसंचरण आदि को विनियमित करने में मदद करता है। हालांकि, अत्यधिक खपत से कुछ स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं जिनमें गुर्दे की पथरी का निर्माण शामिल है।

  • एलर्जी

पपीता त्वचा के लिए अच्छा होता है क्योंकि यह पपैन एंजाइमों के साथ-साथ एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। हालांकि कुछ लोगों को इससे एलर्जी हो सकती है, ऐसे लोगों को इसके सेवन से दूर ही रहना चाहिए।

  • कब्ज़

पपीता कब्ज के लिए एक प्रभावी प्राकृतिक उपचार के रूप में जाना जाता है, लेकिन इसका अधिक सेवन करने से नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। हालांकि इसके ज्यादा सेवन से कब्ज भी हो सकता है।

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की न्यूज़ खबरी नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

RELATED ARTICLES